मोटापा के नुकसान । side effects of weight gain

मोटापा यदि हमारे शरीर में थोड़ा भी है।तो शायद हमें छोटी मोटी बीमारियां हो या ना भी हो लेकिन यदि मोटापा कुछ ज्यादा ही है।तो उसमें मोटापा के नुकसान बहुत ज्यादा हो सकती है और उस मोटापे की का कारण हमें यह भी नहीं पता चलता कि हमारे शरीर में बीमारियां है भी या नहीं है लेकिन जिस आदमी को मोटापा ज्यादा है उसको समय-समय पर चेकअप करवाते रहना चाहिए ताकि उसको किसी भी तरह की दिक्कत ना हो मोटापे के कारण बहुत सी बीमारियां हो सकती है. जैसे

◆मोटापे के कारण है जोड़ों के दर्द होने लगते हैं।

◆मोटापे के कारण हमारे शरीर में डायबिटीज की समस्या पैदा हो सकती है।

◆मोटापा बढ़ने के कारण हमें आंतों की कैंसर भी हो सकती है कई ऐसे रिसर्च भी किए गए हैं जिनके द्वारा पता लगाया गया है कि ज्यादा मोटापे से गर्भाशय का कैंसर भी हो सकता है।

◆मोटापा बढ़ने के साथ ही हमारे शरीर में मानसिक तनाव भी बढ़ जाता है जिससे हम डिप्रेशन में चले जाते हैं।

👉मोटापा कम करने के व्यायाम जानने के लिए क्लिक करें।

◆मोटापे के कारण हमारा कोलोस्ट्रम स्तर भी बिगड़ जाता है. कोलेस्ट्रॉल के खतरे से बचने के लिए हमें मोटापे को कम करना बहुत ही जरूरी होता है.और सबसे बड़ी बात है जिन लोगों में मोटापा होता है अक्सर उनकी जीवन आयु बहुत कम हो जाती है वह ज्यादा समय तक जिंदा नहीं रह पाते हैं।

मोटापे की वजह से शरीर में कई तरह की बीमारियों मसलन हाइपरटेंशन, डायबिटीज,अनिद्रा या फिर कार्डियोवेस्कुलर डिसीज का खतरा काफी बढ़ जाता है, और इन वजहों से किडनी पर भी बहुत बुरा असर पड़ता है।

◆मोटापे के कारण हृदय रोग बहुत ज्यादा होते हैं. ऐसा देखा गया है कि जिन लोगों में मोटापा ज्यादा होता है. उन्हें अक्सर हृदय रोग मिलते हैं. तो इन रोगों से बचने के लिए मोटापा कम करना बहुत जरूरी है।

◆ज्यादा मोटापा होने के कारण हमारी नस ब्लॉक होने का भी खतरा रहता है. क्योंकि मोटापे के कारण हमारी नसों में खून सही से नहीं चल पाता।

◆मोटापे के कारण हमारे शरीर में आंतों के अंदर भी समस्या हो सकती है. क्योंकि मोटापे के कारण हमारे शरीर में आपकी कोशिकाओं के ऊपर दबाव पड़ता है।

◆मोटापे से आपको हाइपरटेंशन की समस्या हो जाती है. उच्च रक्तचाप होने से हृदय की धमनियों में रक्त दबाव के साथ तेजी से पहुंचता है जिससे किडनी फेल, हर्ट अटैक का खतरा बढ़ जाता है।

एक अध्ययन में यह बताया गया है कि मोटापे की वजह से किडनी के खराब होने का भी खतरा रहता है। अध्ययन में मोटापे के तकरीबन 70 प्रतिशत केस में किडनी खराब होने की समस्या देखी गई।

शरीर में वसा की मात्रा अधिक होने पर सोडियम इकट्ठा हो जाता है। इससे रक्त का दबाव बढ़ जाता है। यह दिल के लिए काफी नुकसानदेह होता है।

इसकी वजह से डायबिटीज, हाइपरटेंशन, हार्ट फेलियर, अस्थमा, कोलेस्ट्रॉल, अत्यधिक पसीना आना, जोड़ों में दर्द, बांझपन आदि का खतरा बढ़ जाता है।
मोटापे के प्रकोप और खतरे को देखते हुए 15 से 19 अक्तूबर तक विश्व मोटापा जागरूकता सप्ताह मनाया जाता है।

यह जानकारी आप अपने दोस्त,रिश्तेदार, सहपाठियों के साथ अवश्य शेयर करें।आप अपने सवाल कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

About kamucpk 28 Articles
we are students of MBBS.The college in which we are studying is one of india's top colleges .This blog has been created with the help of our doctor friends and classmates so that visitor can get all the information in Hindi ...

2 Trackbacks / Pingbacks

  1. मोटापा। मोटापा कम करना। weight loss । fat burn
  2. मोटापा। मोटापा कम करना। weight loss । fat burn - Weight Loss Tips In Hindi

Leave a Reply