Khujli ke upay / कैसे कम करें खुजली को

खुजली क्या है:-

यह बाहरी त्वचा में एक अनचाही या अप्रिय अनुभूति (sensation), इसमें इंसान अपने शरीर के अलग-अलग अंग को बार-बार खुजलाता है । खुजली या त्वचा की दर्द तंत्रिकाओं की उत्तेजना है। खुजली किसी भी आयु के लोगों को हो सकती है, अक्सर हम देखते हैं जब खुजली शुरू होती है तो ना चाहते हुए हमें बिना खुजली किए चैन नहीं मिलता है । खुजली एक प्रकार का संकेत है ना कि कोई बीमारी ।

खुजली के प्रकार:-

1. बिना दानों की खुजली
2. दाने वाली खुजली
3. बिना दाने या दाने वाली खुजली के अलावा अन्य लक्षण उत्पन्न होते हैं जैसे खुजली खुजलाते खुजलाते खून निकलना, फुंसी का निकलना ।

कई तरह के चर्म रोग (स्किन डिसऑर्डर) भी होते है जैसे जेरोसिस Xerosis , एग्जिमा Eczema , डरमेटाइटिस Dermatitis , स्केबीज Scabies, सोरॉयासिस Psoriasis आदि ।

खुजली के कारण:-

त्वचा का रुखा होना, किसी केमिकल या दवा से एलर्जी, प्रतिदिन ना नहाना, गंदे कपड़े पहनना, रंगों से एलर्जी, मच्छर या अन्य कोई जंतु के काटने पर खुजली, चर्म रोग, सर्दी में रूखी त्वचा|

शरीर के पीले पड़ जाने पर यदि खुजली होती है तो हो सकता है पीलिया कि वजह से खुजली हो ।

खुजली के घरेलू उपचार:-

आपको अब हम Khujli ke upay में कुछ ऐसे घरेलू नुस्खे बताएंगे जो आसानी से उपलब्ध हैं और खुजली में लाभकारी हैं ।

-सबसे बढ़िया इलाज नीम की पत्तियां,आप इनका पेस्ट बनाकर उपयुक्त खुजली वाले स्थान पर लगा सकते हैं या नीम की पत्तियों को पानी में उबालकर उससे नहाए ।
-लहसुन को सरसों के तेल में गर्म करें और उस की मालिश करें ।
-3 ग्राम जीरा और 15 ग्राम सिंदूर को पीसकर सरसों के तेल में पकाएं और इस लेप को लगाएं इससे खुजली जल्द ही ठीक हो जाएगी
-तुलसी की पत्तियों का पेस्ट बनाएं और उसे लगाएं
-नींबू का रस कॉटन बेड मेड बाय और खुजली वाले स्थान पर लगाएं
-एलोवेरा जेल, एलोवेरा पति के अंदर के जल को निकाले और खुजली की जगह पर लगाएं
-सहद खुजली वाले क्षेत्र पर शहद लगाएं 20 मिनट तक लगा रहने दें फिर साफ पानी से त्वचा धुले

ऊपर दिए गए सारे घरेलू उपचार अगर आप नियमित दिन में दो या तीन बार लगाएंगे तो जरूर आपको खुजली से राहत मिलेगी|

उपरोक्त Khujli ke upay में से कोई भी एक घरेलू उपाय कर सकते है यदि आराम मिल रहा है तो लंबे समय तक यह घरेलू उपाय कर सकते है । यदि फिर भी खुजली बनी हुई है तो आपको अवश्य अपने चिकित्सक से सलाह लेनी चाहिए ।

साथ ही साथ जाने जांघो के बीच होने वाली खुजली के उपाय – (प्राइवेट पार्ट्स में खुजली )

जांघो के बीच खुजली होना बहुत ही सामान्य बात है किन्तु कई बार लोशन , क्रीम या टेबलेट खा लेने से भी आराम नहीं मिलता है और खुजली लगातार आती रहती है ।

अब इसमें हमें खुजली का कारण ढूंढ़ना होता है , जैसे कि कोई एलर्जिक रिएक्शन , बैक्टेरियल या फंगल इंफेक्शन कुछ भी हो सकता है । सामान्यतया इंफेक्शन जब एलर्जी की वजह से होती है तो वह आसानी से sabside कर जाता है । किन्तु जब यह इंफेक्शन जांघो में किसी फंगल की वजह से होती है तो कई संकेत देखने को मिलते है जैसे –

√ लगातार खुजली बनी रहना ।

√ रात में अधिक बढ़ जाना ।

√ पाउडर या दवा से नहीं कोई फर्क पड़ता ।

√ pigmentation स्किन का रंग भूरा होते चले जाना ।

Khujli ke upay में जब भी फंगल इंफेक्शन होगा तो एंटी फंगल पाउडर से कोई फर्क नहीं पड़ता है । इसके लिए आपका ट्रीटमेंट काफी लंबा चलता है लगभग 15 से 30 दिनों तक के लिए itraconazole लेना होता है । जिससे कि पूरी तरह से यह ठीक हो जाता है ।

और अधिक जानने के लिए आप Dr_Hindi के whts app icon पर जाकर आसानी से ओर अधिक जानकारियां हासिल कर सकते है या सवाल पूछ सकते है ।

खुजली से बचाव के उपाय:-

-कपड़े को अच्छे से धोएं, धूप में सुखाएं, गीले कपड़े ना पहने इससे खुजली हो सकती है ।

-रोजाना ना आए ।
-ढीले ढाले सूती के कपड़े पहने, नाखूनों को समय पर कांटे ।
-कैफ़ीन और अल्कोहल के सेवन से बचें
-रोजाना पानी की पर्याप्त मात्रा में अच्छी तरह हाइड्रेटेड रहे ।
-तनाव लेना कम करें, आसपास नमी बनाए रखें ।

कब हमें क्लीनिक में डॉक्टर को दिखाना चाहिए:-

-जब ऊपर दिए गए Khujli ke upay घरेलू उपचार से कोई सुधार ना हो तो हमें डॉक्टर की सलाह लेनी चाहिए ।

–खुजली के साथ अन्य कोई प्रचार संबंधित समस्या या कोई संक्रमण हो तो
-खुजली के साथ थकान वजन घटना यह बुखार आना तो हमें तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए
-अगर खुजली काफी दिनों तक बनी रहे या किसी घरेलू उपचार से ठीक ना हो ।

Khujli ke upay से संबंधित लेख अच्छा लगा तो कमेंट बॉक्स में लिखें और कुछ भी सवाल हो तो whts app करे ।

About kamucpk 28 Articles
we are students of MBBS.The college in which we are studying is one of india's top colleges .This blog has been created with the help of our doctor friends and classmates so that visitor can get all the information in Hindi ...

Be the first to comment

Leave a Reply