गर्भावस्था में क्या खाये । pregnancy me kya khaye in hindi

गर्भावस्था में खान-पान की बहुत ध्यान रखने की जरूरत हैं, क्योंकि ये आपके और आपके बच्चे दोनो के स्वास्थ्य के लिये आवश्यक हैं। तो हम आपको बताते है गर्भावस्था के क्या खाये

पर एक सवाल जो महिलाओं के मन मे होता है, की गर्भावस्था के दौरान क्या उन्हें खान-पान बदलने की जरूरत हैं।तो उनके लिए हमारा जवाब-

Q.क्या मुझे गर्भावस्था के दौरान खान-पान बदलना होगा?

अब जब आप माँ बनने वाली हैं, तो यह जरुरी है की आप अच्छा खाएं। इससे आपको अपने और अपने गर्भ में पल रहे शिशु के लिए जरुरी सभी पोषक तत्व मिल सकेंगे।
यदि आपका आहार शुरुआत से ही ठीक नहीं है, तो यह और भी महत्वपूर्ण है की आप अब स्वस्थ आहार खाएं। आपको अब और अधिक विटामिन और खनिज, विशेष रूप से फॉलिक एसिड और आयरन की जरूरत है।
आपको गर्भावस्था के दौरान कुछ और अधिक कैलोरी की भी ज़रूरत होगी। जंक फूड का सेवन सीमित मात्रा में करें, क्योंकि इसमें केवल कैलोरी ज्यादा होती है और पोषक तत्व कम या न के बराबर होते हैं।

■ आइए जानते है गर्भावस्था में क्या खाये

1.दुग्ध उत्पाद-

सबसे पहले डेयरी उत्पादों से शुरुआत करें। डेयरी उत्पादों में दो प्रकार के उच्च गुणवत्ता वाले प्रोटीन होते हैं: कैसिइन और मट्ठा। डेयरी कैल्शियम का सबसे अच्छा आहार स्रोत है, और फॉस्फोरस, विभिन्न बी-विटामिन, मैग्नीशियम की उच्च मात्रा प्रदान करता है।

दही, गर्भवती महिलाओं के लिए विशेष रूप से फायदेमंद है।

दही, प्रोबायोटिक्स का एक अच्छा स्रोत है जो गर्भवती महिलाओं के लिए वास्तव में महत्वपूर्ण हैं। प्रोबायोटिक्स योनि में अच्छे बैक्टीरिया की मात्रा को संतुलित करके अच्छे योनि(vagina) स्वास्थ्य को बनाए रखने में मदद करता है। किसी भी असंतुलन से संक्रमण हो सकता है।

प्रोबायोटिक्स पाचन स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं और प्रीक्लेम्पसिया(pre-eclampsia) और गर्भावधि मधुमेह के जोखिम को कम करते हैं।

2.अंडे-

अंडे प्रोटीन का एक बड़ा स्रोत हैं, आपके गर्भावस्था के आहार का एक महत्वपूर्ण हिस्सा हैं। प्रोटीन बनाने वाले एमिनो एसिड आपके शरीर में कोशिकाओं के निर्माण खंड(basic unit) हैं और आपके बच्चे के भी।

अंडे में भी एक दर्जन से अधिक विटामिन और खनिज होते हैं, जिनमें कोलीन भी शामिल है। कोलिन (Choline) आपके बच्चे के मस्तिष्क और रीढ़ की हड्डी को ठीक से विकसित करने में मदद करता है, और न्यूरल ट्यूब दोष को रोकने में मदद करता है।

3.पत्तेदार साग

पालक, केल, और अन्य गहरे रंग के पत्तेदार साग प्रीनेटल सुपरफूड हैं, जो विटामिन ए, सी और के सहित विटामिन और पोषक तत्वों से भरपूर होते हैं, साथ ही फोलिक एसिड भी।

4.हरे पत्तों वाली सब्जियां-

फोलिक एसिड हमारे शरीर के रीढ़ की हड्डी के विकास के लिए एक महत्वपूर्ण घटक है। फोलिक एसिड की कमी के कारण जन्मदोष होने की संभावना बनी रहती है ।

5.दूध-

दूध सिर्फ कैल्शियम के लिए जरूरी नहीं है वल्कि यह आसानी से पच भी जाता है । इसके कैल्शियम भ्रूण(fetus) में मजबूत हड्डियों और के निर्माण के लिए आवश्यक होते हैं । स्नैक्स के साथ छाछ भी एक अच्छा विकल्प हो सकता है।

दुग्ध उत्पाद जैसे दही पनीर आदि भी प्रोटीन के बहुत अच्छे स्रोत हैं। प्रोबायोटिक्स के वजह से दही एक असाधारण सुपर फ़ूड है। यह भरपूर प्रोटीन का एक अच्छा स्रोत है। दही भी कैल्शियम, विटामिन बी 12, और पोटेशियम से भरपूर होता है। यह भी हमारे प्रतिरक्षा प्रणाली को मजबूत करता है ।

6.मांसाहारी भोजन-
मांसाहारी हैं तो कम फैट वाला मीट खाएं : चूंकि मांस से हमें उच्च स्तर की प्रोटीन हासिल होती है, इसलिए मांसाहार ले सकने की स्थिति में गर्भवती महिला को कम फैट वाले मीट (लीन मीट) का सेवन करना चाहिए।

7.बिन्स और दाल-

बीन्स और दाल प्रोटीन और आयरन के बड़े स्रोत हैं, साथ ही फोलेट, फाइबर और कैल्शियम भी।

8.फलों के जूस-

विभिन्न फलों के जूस पिये। जैसे अनार का जूस, सेब का जूस,गन्ने का जूस,मौसमी का जूस,नारंगी का जूस,केले का जूस इत्यादि फलों का जूस पीने का बहुत लाभदायक होता है। इसमें कई तरह के खनिज पाए जाते है जो बच्चें के लिये बहुत लाभदायक होता है।

तो ये जानकारियाँ थी गर्भावस्था में क्या खाये इस बारे में..प्रेगनेंसी(pregnancy) टेस्ट कब पोसिटिव आता है..यह जानने के लिये यहाँ क्लिक करें(इसे भी पढ़े)

यह जानकारी आप अपने दोस्त,रिश्तेदार, सहपाठियों के साथ अवश्य शेयर करें।आप अपने सवाल कमेंट बॉक्स में पूछ सकते है।

About kamucpk 28 Articles
we are students of MBBS.The college in which we are studying is one of india's top colleges .This blog has been created with the help of our doctor friends and classmates so that visitor can get all the information in Hindi ...

Be the first to comment

Leave a Reply